Monday, 16 October 2017

(UPTET 2017 Sanskrit Solved paper Part-III Language-II Solved) 15-10-2017

उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा (संस्‍कृत भाषा के हल प्रश्‍न)
(UPTET 2017 Sanskrit Solved paper Part-III Language-II)  15 Oct. 2017
निर्देश : प्रस्‍तुत गद्यखण्‍ड के आधार पर प्रश्‍न सं. 61 से 63 तक के प्रश्‍नों के सही उत्तर दीजिए।
एकस्मिनवसरे कदाचित् लक्ष्‍मी: पार्वतीम् अवदत् प्रेम्‍वा— ‘‘गौरि! स्‍वपत्‍यु: नाम उच्‍यताम्। अन्‍यथा अहं क्रीडाब्‍जेन भवतीं ताडयेयम्।’’ इति। तदा पार्वती अवदत् ‘‘मम पत्‍यु: नाम शिव:’’ इति। शिवपदस्‍य अन्‍यार्थ: शृगाल: इत्‍यर्थं मत्त्वा लक्ष्‍मी: अपृच्‍छत्। ‘‘किं भवत्‍या: पति शृगाल:?’’ इति। ‘‘मम पति: स्‍थाणुरिति निर्दिश्‍यते’’ इति उक्तवतीं पार्वती। लक्ष्‍मी: अवदत् — ‘‘किं स: स्‍तम्‍भ:?’’ इति। ‘‘स: अस्ति पशुपति:’’ इति अवदत् पार्वती। ‘‘तन्‍नाम स: पशून् चारयति इत्‍यर्थ:’’ इति अवदत् लक्ष्‍मी:। एतादृश: लक्ष्‍मी-पार्वत्‍यो: संलाप: सर्वेषां मङ्गलाय भवतु।
61. शिवपदस्‍य अन्‍यार्थ: क:?
(1) स्‍तम्‍भ:          (2) शृगाल:
(3) स्‍थाणु:          (4) पशु:
62. गद्यखण्‍डे कया प्रश्‍न: पृच्‍छ्यते?
(1) गौर्या            (2) पार्वत्‍या
(3) लक्ष्‍म्‍या         (4) दुर्गया
63. कयो: संलाप: सर्वेषां मङ्गलाय भवतु?
(1) लक्ष्‍म्‍या:                (2) पार्वत्‍या:
(3) लक्ष्‍मी-पार्वत्‍यो:     (4) गौर्या:
64. सम्‍प्रेषण का कार्य है
(1) ज्ञानेन्द्रियों को क्रियाशील करना
(2) कर्मेन्द्रियों को क्रियाशील करना
(3) अनुभूति कराना
(4) उपर्युक्‍त सभी
65.  ‘शिशु: मोदकाय रोदिति’ उदाहरण है
(1) स्‍पृहेरीप्सित: का                     (2) तादर्थ्‍ये चतुर्थी वाच्‍या का
(3) रुच्‍यर्थानां प्रीयमाण: का         (4) हितयोगे च का
66. ऊष्‍म वर्णों का बोधक प्रत्‍याहार है
(1) यण्              (2) शल्
(3) हश्              (4) जश्
67. ‘दृश्’ धातु से शतृ प्रत्‍यय करके निष्‍पन्‍न होगा
(1) दृश्‍यन्           (2) पश्‍यन्
(3) दर्शन            (4) दृष्टि:
68. ‘मनोरथ:’ उदाहरण है
(1) स्‍वरसन्धि का             (2) व्‍यञ्जनसन्धि का
(3) विसर्गसन्धि का          (4) प्रकृतिभाव का
69. ‘क्ष’ मिलकर बना है
(1) क् और ष्   से             (2) क् और छ् से
(3) च् और छ् से               (4) च् और श् से
70. ‘दा’ धातु किस गण की है?       
(1) भ्‍वादिगण               (2) अदादिगण
(3) तनादिगण                 (4) जुहोत्‍यादिगण
विशेष - दा दाण् दाने (भ्‍वादिगण) यच्‍छति,
                        डुदाञ् दाने (जुहोत्‍यादिगण) ददाति, दत्ते
71. ‘‘मैं बाजार जाता हूँ’’ का संस्‍कृत में कर्मवाच्‍य वाक्‍य होगा
(1) अहम् आपणं गच्‍छामि
(2) मया आपणं गम्‍यते
(3) मह्यं गम्‍यते आपणम्
(4) अस्‍माभि: आपणं गम्‍यते
72. ‘उपो‍षति’ में सन्धि है
(1) गुण              (2) पररूप
(3) दीर्घ             (4) पूर्वरूप
73. ‘नैके’ में सन्धि है
(1) गुण                     (2) दीर्घ
(3) वृद्धि                    (4) यण्
74. अव्‍यय शब्‍द-समूह हैं
(1) सा, ते, यूयम्              (2) अत्र, तत्र, तस्‍य
(3) सर्वत्र, अधुना, उपरि    (4) नम:, सह, ज्‍येष्‍ठ:
75. ‘उन्‍यासी’ की संस्‍कृत संख्‍या नहीं है        
(1) नवसप्‍तति:                (2) ऊनाशीति:
(3) एकोनाशीति:             (4) एकोनसप्‍तति:          
76. ‘नयनम्’ में प्रयुक्‍त प्रकृति एवं प्रत्‍यय है  
(1) नम् + ल्‍युट्                (2) नी + ल्‍युट्
(3) ने + ल्‍युट्                  (4) नयन + ल्‍युट्
77. अन्‍त:स्‍थ वर्ण हैं
(1) श् ष् स् ह्                  (2) अण् (अ इ उ)
(3) यण् (य् व् र् ल्)         (4) विसर्ग तथा अनुनासिक
78. ‘अट्’ प्रत्‍याहार के वर्ण हैं
(1) स्‍वर तथा ह् य् व् र् (2) अ इ उ ट
(3) ए ओ तथा ह् य् ट्        (4) अ उ ट्
79. ‘वसन्‍तर्त्तु:’ में कौन सन्धि है?
(1) यण् सन्धि                 (2) गुण सन्धि
(3) वृद्धि सन्धि                (4) व्‍यंजन सन्धि
80. ‘पञ्चगवम्’ में समास है
(1) तत्‍पुरुष                    (2) अव्‍ययीभाव
(3) बहुव्रीहि                    (4) द्वन्‍द्व
81. ‘पितृ’ शब्‍द का सम्‍बोधन एकवचन रूप होगा
(1) हे पितृ          (2) हे पिता
(3) हे पित:        (4) हे पित्र:
82. निम्‍न में से कौन संयुक्‍त व्‍यंजन है?
(1) ख                (2) ज्ञ
(3) झ                (4) भ
83. ‘चाहिये’ अर्थ में कौन-सा प्रत्‍यय प्रयुक्‍त होता है?
(1) तुमुन्            (2) तव्‍यत्
(3) क्तवतु           (4) ल्‍यप्
84. ‘‘मुझे संस्‍कृत अच्‍छी लगती है’’ इसका संस्‍कृत में अनुवाद क्‍या है?
(1) अहं संस्‍कृतं भाति
(2) माम् संस्‍कृतं रुचिकरम्
(3) मह्यं संस्‍कृतं रोचते
(4) मया संस्‍कृतं रोचते
85. ‘श्रीमद्भगवद्गीता’ में कुल कितने अध्‍याय हैं?
(1) 15 (पन्‍द्रह)                (2) 18 (अठारह)
(3) 20 (बीस)                 (4) 16 (सोलह)
86. ‘कारक:’ में यदि प्रकृति है ‘कृ’ तो प्रत्‍यय है
(1) घञ्                       (2) तृच्
(3) ण्‍वुल्                     (4) ल्‍युट्
87. अव्‍ययीभाव समास का उदाहरण है
(1) द्वादश           (2) अधिहरि
(3) राजपुरुष:      (4) पीताम्‍बर:
88. निम्‍न में कौन ‘चतुर्विंशतिसाहस्रीसंहिता’ के नाम से ख्‍यात है?
(1) रामायण                   (2) महाभारत
(3) ब्रह्माण्‍डपुराण             (4) बृहदारण्‍यकोपनिषद्
89. श्‍चुत्‍व सन्धि का उदाहरण है
(1) हरिष्‍टीकते                (2) विद्वाञ्जयति
(3) तट्टीका                     (4) विष्‍णुस्राता
90. संस्‍कृत-साहित्‍य में किस कवि की रचना को ‘विद्वदौषधम्’ कहा गया है?
(1) भारवि           (2) भास                       
(3) कालिदास       (4) श्रीहर्ष

qqq

4 comments:

  1. सर दा धातु किस गण की है इसका उत्तर आओ दो दिए है आपत्ति करने के लिए साक्ष्य दीजिये

    ReplyDelete

CTET 2019 Answer Key Paper - 2 (Class-VI-VIII) Child Development & Pedagogy

CTET 2019 Answer Key Paper - 2 (Class-VI-VIII) Child Development & Pedagogy  ( बाल विकास एवं शिक्षा शास्‍त्र ) 1. विकास में व...