Tuesday, 24 October 2017

DSSSB : Post Specific Subject Questions

भाग – (ब)
पोस्‍ट स्‍पेसिफिक विषय – संबंधी प्रश्‍न
101. विद्यार्थियों के अवांछनीय व्‍यवहार में बदलाव लाने के लिए सबसे समर्थ पद्धति है
       (1) विद्यार्थी को दंडित करना     
       (2) माता-पिता को सूचित करना
       (3) अवांछनीय व्‍यवहार के कारणों को जानना और उनका उपाय बताना              
       (4) नजर अंदाज करना                                                                         (3)
102. कौन-सा विश्‍वविद्यालय में 1969 माइक्रो-टीचिंग पद्धति (microteaching system) की शुरुआतकी गई?
       (1) स्‍टेनफोर्ड विश्‍वविद्यालय      (2) ऑक्‍सफोर्ड विश्‍वविद्यालय
       (3) दिल्‍ली विश्‍वविद्यालय         (4) एम. एस. विश्‍वविद्यालय, बरोडा (भारत)     (1)
103. C.A.I का पूर्ण रूप है :
       (1) केरेक्‍टेरिस्टिक ऑफ असिस्‍टेंट इन्‍सट्रक्‍टर                                               
       (2) कम्‍प्‍यूटर असिस्‍टेड इन्‍स्‍ट्रक्‍सन
       (3) कम्‍यूनिटी आसिस्‍टेड इन्‍स्‍ट्रक्‍सन                                                         
       (4) इनमें से कोई नहीं                                                                           (2)
104. मानव जन्‍म मुक्‍त लेता है परंतु सभी ओर से वह जंजीर में है यह विधान किसने दिया?
       (1) अब्राहम मास्‍लो                 (2) जीन जेक्‍वीस राउसेउ
       (3) जॉन डीवी                       (4) डब्‍ल्‍यू. आई. आई. क्लिपेट्रीक                    (2)
105. लेखित वार्तालाप संचारण व्‍यूह में शामिल है
       (1) एलगोरीथम (Algorithms)  (2) डीसिजन टेबल (Decision Table)
       (3) (1) और (2) दोनों              (4) इनमें से कोई नहीं                                  (3)
106. स्‍कूल व्‍यवस्‍था की मुख्‍य जिम्‍मेदारी किसके ऊपर है :
       (1) प्रिन्‍स‍िपल                        (2) शिक्षक
       (3) प्रबंधक                           (4) उपरोक्‍त सभी                                      (1)
107. स्‍कूल अनुशासन का मुख्‍य उद्देश्‍य है–
       (1) स्‍टाफ और विद्यार्थियों की सुरक्षा सुनिश्‍च‍ित करना                                   
       (2) शिक्षण ग्रहणशील वातावरण बनाना
       (3) (1) और (2) दोनों             
       (4) उपरोक्‍त सभी                                                                               (3)
108. प्राथमिक स्‍तर पर टीचर–टॉट (Teacher-taught) अनुपात 1 : 39 था यह–
       (1) छठा एज्‍यूकेशनल सर्वे ऑफ ऑल इन्डिया के मुताबिक
       (2) पाँचवा एज्‍यूकेशनल सर्वे ऑफ ऑल इन्डिया के मुताबिक
       (3) चौथा एज्‍यूकेशनल सर्वे ऑफ ऑल इन्डिया के मुताबिक                             
       (4) दूसरा एज्‍यूकेशनल सर्वे ऑफ ऑल इन्डिया के मुताबिक                              (1)
109. कम्‍प्‍यूटर प्रोग्राम में एक क्षति जो उनको सही चलने से रोकती है वह कहलाती है–
       (1) बग (Bug)                      (2) एरर (Error)
       (3) बू-बू (Boo-Boo)              (4) वायरस (Virus)                                   (1)
110. भाषा का व्‍यावहारिक ज्ञान सिखाया जाता है–
       (1) स्‍कूल में (School)            
       (2) भाषा प्रयोगशाला में (Language laboratory)
       (3) भाषा शिक्षण में (Language teaching)                                            
       (4) भाषा सूचना में (Language instruction)                                           (2)
111. स्‍कूल में से ड्रोपिंग आउट होना मतलब–
       (1) स्‍कूल में अनियमित आना     
       (2) स्‍कूल हमेशा के लिए छोड़ना
       (3) वर्ग में से टूअन्‍ट (Truant) खेलना                                                      
       (4) इनमें से कोई नहीं                                                                           (2)
112. निम्‍न में से कौन-सा एक अच्‍छी समय सारिणी का सिद्धांत नहीं है?
       (1) लचीनापन                       (2) निर्दय शिक्षक
       (3) विविधता                        (4) प्रयत्‍न का सह-संयोजन                            (2)
113. स्‍कूल में अनुपस्थ्‍िात रहना और भाग जाना; इनके कारण है–
       (1) अभ्यास क्रम में रूचि का अभाव                                                         
       (2) शिक्षण की निर्बल पद्धति
       (3) अप्रभावी शिक्षक               
       (4) उपरोक्‍त सभी                                                                               (4)
114. मानव संसाधन विकास मंत्रालय की स्‍थापना कब की गई?
       (1) अक्‍टूबर 26, 1985            (2) अक्‍टूबर 16, 1985
       (3) सितम्‍बर 26, 1985            (4) सितम्‍बर 10, 1986                               (3)
115. निर्णय लेने का कार्यक्षेत्र है
       (1) प्रबंध (Management)       (2) संगठन (Organisation)
       (3) प्रशासन (Administration) (4) निरीक्षण (Supervision)                       (3)
116. व्‍यक्‍त‍ित्‍व का कारणभूत घटक है–
       (1) डक्‍टलेश ग्‍लन्‍ड (Ductless glands)                                                 
       (2) कुटुम्‍ब की पृष्‍ठभूमि (family background)
       (3) स्‍कूल (school)               
       (4) उपरोक्‍त सभी                                                                               (4)
117. शिक्षक की डायरी में निम्‍न में से कौन-सा दृष्टिकोण की चर्चा की गई है?
       (1) वर्ग समय-सारिणी              (2) शिक्षा की सामग्री (Teaching content)
       (3) (1) और (2) दोनों              (4) इनमें से कोई नहीं                                  (3)
118. …………. एक ऐतिहासिक घटक को समाविष्‍ट करता है, जो दिनचर्या का स्‍त्रोत है, वह स्‍थान से संबंधित है जिनमें लोग समय पर आदान-प्रदान करते हैं, और कुटुम्‍ब, स्‍कूल क्षेत्र, स्‍कूल, वर्गखंड और संघ मीटिंग के परिप्रेक्ष्‍य में अस्तित्‍व रखती है।
       (1) धर्म                               (2) विविधता
       (3) संस्‍कृति                           (4) भाषा                                                (4)
119. सभ्‍यता के लेंस से विद्यार्थियों की उपलब्धि का अर्थघटन करते समय शिक्षक को विद्यार्थी के सभ्‍यता समूह की प्रणालीका को ध्‍यान में रखना चाहिए, समूह का इतिहास, शिशु का _______, और व्‍यक्‍त‍ि के सभ्‍यताके अपेक्षित भूमिका, ध्‍येय, स्‍त्रोत, बंधन और भेद।
       (1) धर्म                               (2) इतिहास
       (3) सभ्‍यता                           (4) भाषा                                                (1)
120. व्यक्‍त‍ित्‍व से आप क्‍या समझते हैं?
       (1) व्‍यक्‍त‍ि का व्‍यवहार
       (2) व्यक्‍त‍ि का सामाजिक विकास
       (3) वहीं बातें जो व्यक्‍त‍ि के अतंर्गत आती हों                                               
       (4) व्‍यक्‍त‍ि द्वारा बोली जाती वाणी                                                           (1)
121. आदत किसे कहते हैं?
       (1) कोई कार्य की पुनरावृत्ति       (2) यह एक स्‍वत: प्रक्रिया है
       (3) (1) और (2) दोनों              (4) इनमें से कोई नहीं                                  (1)
122. शिक्षक छात्रों की क्षमता किस तरह मापता है?
       (1) छात्रों की जाँच करके          
       (2) छात्रों को पूछकर
       (3) छात्रों द्वारा किये गये विविध कार्यों का विश्‍लेषण करके                              
       (4) छात्र के माता-पिता को पूछकर                                                           (1)
123. विद्यार्थी को सही/ उपयुक्‍त ज्ञान कैसे दिया जाता है?
       (1) पाठ को याद करके             
       (2) पाठ को समझकर
       (3) विद्यार्थी का स्‍व-अध्‍ययन द्वारा                                                           
       (4) रुचिकर तरीके से शिक्षण देकर                                                            (3)
124. छात्र को विज्ञान विषय कैसे सीखना चाहिए?
       (1) प्रश्‍न-उत्तर दे के                 (2) प्रयोग दिखाकर
       (3) छात्रों द्वारा प्रयोग करवा कर  (4) रुचिकर तरीके से                                   (3)
125. वर्गखंड में शिक्षा के लिए क्‍या आवश्‍यक है?
       (1) उचित पर्यावरण                (2) छात्रों की जिज्ञासावृत्ति
       (3) पारंगत (सीखा हुआ) शिक्षक  (4) उपरोक्‍त सभी                                      (4)
126. बच्‍चों को कैसे सीखाया जाता है?
       (1) उन्‍हें भाषा की शिक्षा देकर    
       (2) उन्‍हें कहानियाँ सुनाकर
       (3) उन्‍हें खेल पद्धति द्वारा भाषा की शिक्षा देकर                                           
       (4) उन्‍हें संगीत सुनाकर                                                                        (2)
127. यदि कोई छात्र दिए गए प्रश्‍नों ाका उत्तर न दे सके, तो–
       (1) शिक्षक को उन्‍हें उत्तर देना चाहिए                                                      
       (2) शिक्षक को अन्‍य छात्रों को पूछना चाहिए
       (3) शिक्षक को छात्र को उत्तर देने के लिए प्रोत्‍साहित करना चाहिए                    
       (4) शिक्षक को छात्र को सजा (दंड) देना चाहिए                                            (2)
128. छात्रों के लिए विद्यालय में शैक्षणिक प्रवास अनिवार्य है। क्‍यों?
       (1) छात्र प्रवास से खुश होते है   
       (2) छात्रों के लिए अध्‍ययन एक बोझ नहीं मानना चाहिये
       (3) छात्रों को सीधे संपर्क/सम्‍बन्‍ध से विभागीयज्ञान मिलता है                           
       (4) छात्र प्रवास से आनंदित होते हैं                                                           (3)
129. छात्रों को गृहकार्य देना चाहिए, क्‍यों?
       (1) छात्र घर पर अध्‍ययन कर सकें                                                           
       (2) छात्रों के विकास के लिए
       (3) छात्रों ने पाठ को कितना समझा है, ये जानने के लिए                                
       (4) लेखन कौशल के विकास के लिए                                                          (3)
130. अब इन दिनों छात्रों में शैक्षिक रूचि नहीं रही क्‍योंकि–
       (1) वहाँ व्‍यवसायों में अधिक पैसे हैं                                                         
       (2) शिक्षण भी ज्‍यादा मँहगा है
       (3) वे शिक्षा के बेहतर भविष्‍य नहीं देख सकते
       (4) वहाँ शिक्षा का कोई उपयुक्‍त पाठ्यक्रम और नमूना नहीं है                           (4)
131. छात्रों के शिक्षण में शिक्षक का क्‍या महत्त्व है?
       (1) इस माहौल के लिए नैतिक शिक्षण अनिवार्य है।                                       
       (2) नैतिक‍ शिक्षण छात्रों को प्रोत्‍साहित करते हैं।
       (3) चरित्र के विकास के लिए नैतिक शिक्षण जरूरी है                                     
       (4) नैतिक शिक्षण एक आदमी को महान आदमी बना सकता है।                         (3)
132. विद्यालय में निबंध प्रकार के प्रश्‍नों के बावजूद वस्‍तुनिष्‍ठ प्रकार के प्रश्‍न पूछे जाते हैं, क्‍यों?
       (1) छात्रों को समय के महत्‍व को बताने के लिए                                            
       (2) कम समय में अधिक काम करने के लिए
       (3) अधिक प्रश्‍नों के उत्तर जानने के लिए                                                   
       (4) यह उत्तरपत्र को हल करने की अधिक सुविधाजनक विधि है                          (3)
133. छात्रों को शैक्षिक–भ्रमण के लिए ले जाते हैं, इसलिए कि
       (1) अध्‍ययन बोझ के रूप में नहीं समझा जाये                                              
       (2) छात्रों के माता-पिता को संतुष्‍ठ किया जाता है
       (3) छात्र इससे ज्ञान प्राप्‍त कर सकते हैं                                                      
       (4) छात्र आनन्द ले सकते हैं                                                                   (3)
134. यदि कोई छात्र आपके प्रश्‍नों का उत्तर न दे सके, तो–
       (1) शिक्षक को उसका उत्तर देना चाहिए                                                    
       (2) शिक्षक को उस प्रश्‍न को अन्‍य मामलों से पूछना चाहिए
       (3) शिक्षक को उन्‍हें बार-बार पूछना चाहिए                                               
       (4) शिक्षक को उत्तर देना चाहिए और उन्‍हें याद रखने के लिए कहना चाहिए          (2)
135. इस समकालीन परिवेश में, वही शिक्षक सफल है, जो
       (1) वर्गखंड में आधुनिक वस्‍त्र पहनकर आते हैं                                             
       (2) वर्गखंड में समाचार पत्र या मोबाइल फोन लेकर आते हैं
       (3) वर्गखंड में कुछ पढाते समय स्थिति का निर्माण करता हैं                             
       (4) छात्रों के साथ असरकारक संपर्क के कौशल बनाता है                                  (3)
136. शिक्षक को पाठ पढ़ाने के पहले क्‍या करना चाहिए?
       (1) एक छात्र द्वारा पाठ तैयार किया जाना चाहिए                                        
       (2) शिक्षक को पाठ के मुख्‍य मुद्दे बताना चाहिए
       (3) शिक्षक को पहले, पाठ में आने वाले कठिन शब्‍दों को बता देना चाहिए            
       (4) शिक्षक को पहले, पाठ के प्रश्‍नों के उत्तर दे देने चाहिए                                (2)
137.शिक्षक को पाठ पढ़ाने के बाद क्‍या करना चाहिए?                                         
       (1) शिक्षक को पाठ के प्रश्‍नोत्तरी करनी चाहिए                                            
       (2) शिक्षक को पाठ के प्रश्‍नों के उत्तरों देने चाहिए
       (3) शिक्षक को छात्रों इसे लिख सकते है या नहीं वे जानना चाहिए।                    
       (4) शिक्षक को छात्रों में समझ आ गई है, इसका परीक्षण करना चाहिए                 (4)
138. आप एक कमजोर छात्र को कैसे पढाएंगे?
       (1) उन्हें हर दिन एक नई किताब देकर                                                      
       (2) उन्‍हें बुद्धिमान छात्र के साथ पढ़ाना चाहिए
       (3) उन्हें अलग से समय देकर पढ़ाना चाहिए                                               
       (4) उन्‍हें कहना चाहिए कि उसको कठिन परिश्रम करके सफल होना चाहिए            (3)
139. आप उन छात्रों को कैसे बंद करवाएंगे जो शरारती है और मदमत्त पदार्थ लेते हैं?
       (1) आप उसे कठोर सजा दे और बाद में सुधार की शिक्षा दे                              
       (2) आप उसे, इसकी हरकतों से होने वाले रोगों से अवगत कराये और बाद में उन्हें शिक्षा दे
       (3) आप उसे मदमत्त पदार्थ दे और बाद में शिक्षा दे                                      
       (4) आप केवल उन छात्रों तक जाये जो मदमत्त पदार्थ नहीं लेते हैं                       (2)
140. आप एक शिक्षक है और आपका स्‍थानांतरण एक गाँव की संस्‍था में से एक शहर में हुआ है। आप उन्‍हें कैसे पढाएंगे?
       (1) आपको कुछ समय शहर में रहना होगा और बाद में पढ़ाने के लिए जाना चाहिए
       (2) आपकी शैक्षिक प्रक्रिया में कोई बदलाव नहीं आएगा
       (3) आपको पढ़ाने में नये आयामों जैसे कि इंटरनेट आदि की सहायता लेनी होगी     
       (4) आपको अन्‍य शिक्षकों से बात करनी चाहिए और बाद में आधुनिक ढंग से पढ़ाना चाहिए                            (2)
141. छात्रों को सुनहरे भविष्‍य के लिए करना चाहिए
       (1) विद्यालय में अधिक और अधिक पढ़ना चाहिए                                        
       (2) केवल उन्‍हीं प्रश्‍नों को याद करना चाहिए जो परीक्षा में पूछने की संभावना हो
       (3) विद्यालय में शिक्षक के साथ और घर पर माता-पिता के साथ अध्‍ययन करना चाहिए  
       (4) अपनी रुचि और शौक की अपेक्षा नहीं करनी चाहिए                                  (4)
142. यदि वर्गखंड में कुछ शरारती छात्र हैं तो इस स्थिति में आप कैसे पढ़ाएंगे?
       (1) कोई ध्‍यान दिए बिना आप पाठ पढ़ाएंगे                                                
       (2) इन्‍हें समझाने की कोशिश करेंगे, आप मनोवैज्ञानिक तरीके से पढाएंगे
       (3) आप उनके माता-पिता को बुलाएंगे और उनकी मानसिकता के बारे में बताएंगे   
       (4) आप प्रधानाचार्य से अनुरोध करेंगे कि उन्हें निकान दें                                 (2)
143. एक अच्‍छा शिक्षक –
       (1) अपनी आँखे वर्गखंड के सभी छात्रों पर रखेंगे                                          
       (2) आर्थिक रूप से कमजोर छात्रों को मदद करेंगे
       (3) कमजोर छात्रों पर और अधिक ध्‍यान देंगे                                              
       (4) गरीब छात्रों की मदद के लिए पैसे देंगे                                                   (1)
144. एक अध्‍यापक होकर, यदि विद्यार्थी आपके वर्ग में उपस्थित नहीं रहते तो, आप क्‍या करोगे?
       (1) वर्ग में अनुस्थित रहने के लिए उनको दण्‍ड देंगे                                        
       (2) विद्यार्थियों के वर्तमान व्‍यवहार पर शांति से विचार करेंगे
       (3) सिखाने की कोई रूचिकर पद्धति पर सोचेंगे                                            
       (4) कारणों को समझने का प्रयत्‍न करेंगे और उनको दूर करने का प्रयत्‍न करेंगे          (4)
145. व्‍याख्‍यान में अच्‍छा वार्तालाप संचारण होगा यदि अध्‍यापक
       (1) तैयार नोंट में से पढेंगे         
       (2) पूर्व तैयारी कर नोंट बनाएंगे और उनका मार्गदर्शक के रूप में इस्‍तेमाल करेंगे
       (3) सहसा वक्‍तव्‍य देंगे             
       (4) अन्‍य विषयों में से दृष्‍टातं लेकर सहसा वक्‍तव्‍य देंगे                                   (4)
146. अध्‍यापक जो वर्ग-खंड अध्‍यापन में उत्‍साही होते है
       (1) ज्‍यादातर विषय में निपुरणता की कमी रखते है जो उनके उत्‍साह में छुपी रहती है      
       (2) सिर्फ विद्यार्थियों का ध्‍यान बनाये रखने के लिए नाटक करते है
       (3) सीखने-सिखाने की प्रक्रिया में विद्याथियों को शामिल करते हैं                       
       (4) उपर्युक्‍त सभी                                                                               (3)
147. कोई अच्‍छा अध्‍यापक बन सकता है, यदि –
       (1) उनको पढाने में सच्‍ची दिलचस्‍पी हो                                                   
       (2) वह जानता हो कि विद्यार्थियों को कैसे नियंत्रित किया जाए
       (3) वह अपना विषय जानता हो 
       (4) उनकी शैली अच्‍छी हो                                                                     (3)
148. अध्‍यापन का सर्वाधिक महत्‍वपूर्ण कौशल्‍य है
       (1) विद्यार्थियों को समझ में आना जो अध्‍यापक कह रहा हो                             
       (2) विषय का पाठ्यक्रम पूरा करना
       (3) अध्‍यापन के समय विद्यार्थियों को तनाव रहित रखना                                
       (4) वर्ग नियमित रूप से लेना                                                                 (1)
149. ज्‍यादा तौर पे प्रभावी अध्‍यापन एक कार्य है–
       (1) वर्ग में शिस्‍त बनाये रखने में 
       (2) अध्‍यापक की प्रमाणिकता में
       (3) जिनमें अध्‍यापक विद्यार्थियों को पढ़ाएं और वह उनको समझ में आए             
       (4) अध्‍यापक को पढाने के कार्य में रूचि होना                                              (3)
150. एक व्‍यवसाय की सफलता आधारित है–
       (1) व्‍यक्तिगत संतोष प्रदान करने की नीति                                                  
       (2) लोगों से संबंध बनाए रखने पर
       (3) कार्य की गुणवत्ता बनाये रखने पर                                                       
       (4) अपने उपरिओं से वफादारी पर                                                           (3)
151. अध्‍यापक की मुख्‍य भूमिका की पहचान है
       (1) नेता                               (2) संयोजक
       (3) प्रबंधक                           (4) प्रेरक                                                 (1)
152. अध्‍यापन से पहले एक अध्‍यापक करता है–
       (1) हेतुओं की पहचान             
       (2) अध्‍यापन पाठ की तैयारी
       (3) विद्यार्थियों की रूचि की जानकारी                                                      
       (4) उपरोक्‍त सभी                                                                               (4)
153. सार्थक अध्‍यापन में शामिल है की–
       (1) अध्‍यापक क्रियाशील है परंतु विद्यार्थी क्रियाशील हो या न हो                       
       (2) अध्‍यापक क्रियाशील हो या न हो परंतु विद्यार्थी क्रियाशील है
       (3) अध्‍यापक क्रियाशील है और विद्यार्थी क्रियाशील है                                   
       (4) उपरोक्‍त सभी परिस्थिति                                                                 (3)
154. अध्‍यापन का सर्वप्रथम परिणाम है–
       (1) विद्यार्थियों के व्‍यवहार का इच्छित दिशा में बदलाव                                 
       (2) विद्यार्थियों के व्य‍क्‍त‍ित्‍व का संपूर्ण विकास
       (3) विद्यार्थियों के चरित्र का विकास                                                         
       (4) उचित काम में नियुक्‍त होना                                                              (1)
155.अध्‍यापन की कार्यक्षमता की प्राथमिक आवश्‍यकता है                                      
       (1) अध्‍यापन कौशल में निपुणता के प्रयोग में                                              
       (2) अध्‍यापन की विविध तकनीकी निपुणता
       (3) अध्‍यापन में माध्‍यम और टेक्‍नोलॉजी के सही प्रयोग में निपुणता                   
       (4) उपरोक्‍त सभी                                                                               (4)
156. अध्‍यापन में प्रश्‍नावली का कौशल बहुत जरूरी है–
       (1) शिक्षण में विद्यार्थियों के क्रियात्‍मक भाग लेने को नि‍श्‍च‍ित करने में                 
       (2) विद्यार्थियों के तथ्‍य याद रखने में
       (3) विद्यार्थियों को अनुशासित करने में                                                      
       (4) विद्यार्थियों को इम्‍तहान के लिए तैयार करने में                                        (1)
157. एक अध्‍यापक को अपनी आय बढ़ानी है। आप उसे राय देंगे कि–
       (1) शेष वक्‍त में कोचिंग संस्‍थाओं में पढ़ाये                                                 
       (2) स्‍कूल/ कॉलेज में ज्‍यादा आय देने वाला कार्य स्‍वीकारे
       (3) अध्‍यापन के सिवाय अन्‍य कांन्‍ट्रेक्‍टयुअल कार्य को स्‍वीकार करे                      
       (4) पुस्‍तकें लिखे                                                                                 (4)
158. एक प्रिन्सिपल होने के नाते आप अपने सह अध्‍यापकों को प्रोत्‍साहित करेंगे
       (1) भारत में और विदेशों में सेमिनार और कांफ्रेंस में भाग लेने के लिए                
       (2) विषय के ज्ञान को बढाने के लिए रीफ्रेशर कोर्ष में भाग लेने के लिए
       (3) पिछड़े लोगों को ऊपर उठाने वाली समाज सेवा में भाग लेने के लिए              
       (4) उपरोक्‍त सभी                                                                               (4)
159. एक अध्‍यापक विद्यार्थियों में सामाजिक और नैतिक मूल्‍यों को जगाएंगे–
       (1) मूल्‍यों पर भाषण करके       
       (2) टी.वी. कार्यक्रम दिखाकर
       (3) विद्यार्थियों को सह पाठ्यसूची प्रवृत्तियों में शामिल करके                            
       (4) धार्मिक उत्‍सवों मनाकर                                                                    (3)
160. मूल्‍यांकन का सर्वाधिक अर्थपूर्ण राह है–
       (1) निरंतर और विस्‍तृत मूल्‍यांकन                                                           
       (2) टर्म के अंत में हेतुलक्षी परीक्षा लेना
       (3) विद्यार्थियों का क्‍युम्‍युलेटिव रिकॉर्ड रखना                                             
       (4) सेमेस्‍टर पद्धति मूल्‍यांकन                                                                  (1)
161. शैक्षणिक टेक्‍नोलॉजी उपयोगी है क्‍योंकि–
       (1) वह वक्‍त की जरूरत है        
       (2) प्रख्‍यात संस्‍थाओं द्वारा अपनाई गई है
       (3) वह अध्‍यापन को अर्थपूर्ण और कार्यक्षम बनाती है
       (4) वह विद्यार्थियों को अध्‍यापन और तालीम प्रवृत्तियों की ओर आकर्षित करती हैं   (3)
162. एक अध्‍यापक को अपने विषय में निपुण होनी आवश्‍यक है–
       (1) जाग्रतता के लिए                (2) विद्यार्थियों पर प्रभाव डालने के लिए
       (3) दिलचस्पी के लिए              (4) अध्‍यापन को सार्थक बनाने के लिए              (4)
163. ‘’किन्डर गार्टन’’ पद का अर्थ है
       (1) बच्‍चों का                        (2) बच्‍चों का घर
       (3) बच्‍चों का स्‍कूल                 (4) बच्‍चों का खेल मैदान                              (4)
164. शिक्षण के ऊपर ‘’कोठारी कमिशन’’ की रिपोर्ट का शीर्षक था
       (1) शिक्षण और राष्‍ट्रीय विकास  (2) लर्निंग ‘’टु बी’’
       (3) शिक्षण में विविधता            (4) शिक्षण सभी के लिए                              (1)
165. विद्या का सबसे उचित अर्थ है
       (1) ज्ञान की जाग्रति                 (2) वर्तन का बदलाव
       (3) व्‍यक्‍त‍िगत समायोजन          (4) कौशल की प्राप्ति                                    (2)
166. विद्यार्थियों की जरूरत और रूचि का अध्‍यापकों का ज्ञान जो विषय में समाविष्‍ट है वह है
       (1) शिक्षण की फिलॉस्‍फी           (2) शिक्षण का मानसशास्‍त्र
       (3) शिक्षण का समाजशास्‍त्र        (4) शिक्षण की राजनीति                              (2)
167. शिक्षण में कार्य का अनुभव का मतलब है
       (1) ग्रामीण के साथ उत्‍पादकता के लिए शिक्षण                                            
       (2) नई समाज व्‍यवस्‍था के लिए कार्य करना
       (3) औद्योगिक और टेक्‍नोलॉजी विश्‍व का अनुभव                                         
       (4) व्‍यवसायलक्ष्‍मी अभ्‍यासक्रम के प्रति दिग्‍ विन्‍यास में शिक्षण                          (4)
168. संपूर्ण शिक्षण की संकल्‍पना का प्रतिपादन किसने किया?
       (1) श्री अरविंद                      (2) महात्‍मा गाँधी
       (3) स्‍वामी दयानंद                  (4) स्‍वामी विवेकानन्‍द                                 (1)
169. विद्यार्थियों का संवेगी आयोजन सार्थक होता है–
       (1) व्‍यक्‍ति‍त्‍व बनाने में             (2) वर्ग-अभ्‍यास में
       (3) अनुशासन में                    (4) उपरोक्‍त सभी                                      (4)
170. श्‍याम-फलक तालीस को कौन-सी श्रेणी/ समूह में समाविष्‍ट किया जा सकता है?
       (1) श्राव्‍य-साधन                    (2) दृश्‍य-साधन
       (3) श्राव्‍य–दृश्‍य साधन             (4) उपरोक्‍त में से कोई नहीं                          (2)
171. निम्‍न में से कौन-सा तालीम कौशल से संबंधित है?
       (1) श्‍याम-फलक पर लिखना      (2) प्रश्‍नों को सुलझाना
       (3) प्रश्‍न पूछना                      (4) उपरोक्‍त सभी                                      (4)
172. विद्यार्थी जो वर्ग में प्रश्‍न पूछता है उसे
       (1) वर्ग के बाद अध्‍यापक को मिलने की सलाह देनी चाहिए                             
       (2) वर्ग में चर्चा के दौरान भाग लेने के लिए प्रोत्‍साहित करना चाहिए
       (3) प्रश्‍न पूछने का जारी रखने पर प्रोत्‍साहित करना चाहिए                             
       (4) उत्तर खूद ढूँढने के लिए प्रोत्‍साहित करना चाहिए                                      (3)
173. सत्तावादी स्‍तर पर तालीम है।
       (1) अध्‍यापक केन्द्रित               (2) शिशु केन्द्रित
       (3) हेड मास्‍टर केन्द्रित              (4) अनुभव आधारित                                  (1)
174. अध्‍यापकों की सार्थकता बढ़ाने के लिए शिक्षण में अंतर प्रक्रिया विश्‍लेषण श्रेणी (interaction analysis category) पद्धति किसने बनाई?
       (1) फ्लेन्‍डर                           (2) रेयोन
       (3) एमिडोन और सिमोन          (4) रिचार्ड ओवर                                       (1)
175. नैतिक विकास का एक महत्‍वपूर्ण सिद्धांत किसने दिया?
       (1) लोरेन्‍स कोहलबर्ग               (2) इरिक फ्रोम
       (3) डेनियल कोलेमन               (4) बेन्‍जामिन ब्‍लूम                                    (1)
176. चारित्र्य का विकास होता है
       (1) इच्छाशक्‍त‍ि से                  (2) शिस्‍त और वर्तन से
       (3) नैतिकता से                      (4) उपरोक्‍त सभी                                      (4)

177. निम्‍न में से कौन-सा तालीम शिक्षण का स्‍तर नहीं है?
       (1) असमानता स्‍तर                 (2) याददास्‍ता स्‍तर
       (3) चिन्‍तनशील स्‍तर               (4) समझ स्‍तर                                          (1)
178. एन. यू. इ. पी. ए. (NUEPA) मुख्‍यत: किससे संबंधित है?
       (1) शैक्षणिक देखभाल              (2) शैक्षणिक एकता
       (3) शैक्षणिक योजना                (4) शैक्षणिक मूल्‍यांकन                                (3)
179. यशपाल कमिटी रिपोर्ट (1993) का नाम है।
       (1) अध्‍यापक शिक्षण में            (2) बिना बोझ के शिक्षण
       (3) प्रसारण द्वारा शिक्षण           (4) उपरोक्‍त में से कोई नहीं                          (2)
180. मनोविश्‍लेषण के पिता है–
       (1) इरिक एच. एरिक्‍सन           (2) जीन पिगेट
       (3) फेरोर्न एस. ब्रूनर                (4) सिग्‍मंड फ्राइड                                      (4)
181. पेडागोगी (Pedagogy) में कम्‍प्‍यूटर का उपयोग होता है–
       (1) तालीमार्थी को प्रेरित करने   
       (2) फीड बैक देने के लिए
       (3) तालीमार्थी के साथ प्रतिक्रिया के लिए                                                  
       (4) उपरोक्‍त सभी के लिए                                                                     (4)
182. निम्‍न में से कम्‍प्‍यूटर का डाईब्रेन (diebrain) कौन-सा है?
       (1) प्रोग्राम                           (2) सी. पी. यू.
       (3) मेमरी                             (4) हार्ड डिस्‍क                                          (2)
183. ‘’स्‍पेअर द रॉड–स्‍पोईल द चाइल्‍ड’’ (spare the rod- spoil the child) यह धारणा इस प्रकार की शाखा से संबंधित है जिसका समर्थन किया है–
       (1) नेचरालिस्‍ट फिलोसोफी ने     (2) प्रेगमेटीक फिलोसोफी ने
       (3) विक्‍टोरीयन युग में             (4) डेमोक्रेटिक युग में                                  (3)
184. स्‍कूल संकुल की परि‍कल्‍पना प्रथम स्‍थापित हुई
       (1) उत्तर प्रदेश में                   (2) मध्‍य प्रदेश में
       (3) बिहर में                          (4) राजस्‍थान में                                        (4)
185. तालीम का ज्ञानात्‍मक सिद्धांत किसने प्रातिपादित किया?
       (1) एन. एल. गगे                   (2) शिव-कुमार मित्रा
       (3) बी. एफ. स्किनर                (4) मेक डोनाल्‍ड                                        (1)
186. वर्ग शिक्षण में सूचना माध्‍यम वर्ग से दूर रहना और चले जाना को असर करती है–
       (1) सहमत है                         (2) कह नहीं सकते
       (3) सहमत नहीं है                   (4) उपरोक्‍त में से कोई नहीं                          (1)
187.शिक्षण कौशल तालीम का निर्धारक है
       (1) घटक                             (2) विद्यार्थी-शिक्षक
       (3) निरीक्षक                         (4) हेडमास्‍टर                                           (1)
188. एक अच्‍छे वार्तालाप संचारण में जरूरी है
       (1) विचारों की स्‍पष्‍टता            (2) नाटकिय प्रस्‍तुति
       (3) नरम आवाज से बोलना        (4) रूके बिना बोलना                                  (4)
189. निम्‍न में से कौन-सा शैक्षणिक समायोजन का मार्ग है?
       (1) मानव शक्‍त‍ि मार्ग              (2) सामाजिक माँग मार्ग
       (3) (1) और (2) दोनों              (4) इनमें से कोई नहीं                                  (3)
190. संस्‍थाकिय योजना आधारित होनी चाहिए
       (1) ध्‍येय और आवश्‍यकता         (2) समय-सारिणी
       (3) प्रबंधन                           (4) आवश्‍यकता                                         (1)
191. अध्‍यापक का आचरण जरूरी है:
       (1) प्रशासकीय                       (2) सूचनात्‍मक
       (3) आदर्श                            (4) निर्देशात्‍मक                                         (3)
192. सूचना धोरी मार्ग (Information highway) या नेट (net) है–
       (1) कम्‍प्‍यूटर                         (2) इंटरनेट
       (3) इन्‍ट्रानेट                          (4) की–बोर्ड                                             (2)
193. इनसेट–1 (B) का प्रक्षेपण कब किया गया?
       (1) 30 अप्रैल, 1983               (2) 30 अगस्‍त, 1983
       (3) 30 दिसम्‍बर, 1983            (4) 30 जनवरी, 1984                                (2)
194. यू. जी. सी. (U.G.C.) में केन्‍द्र सरकार के कितने प्रतिनिधि है?
       (1) 09                                (2) 02
       (3) 06                                (4) 03                                                   (2)
195. कम्‍प्‍यूटर लैंगवेज किस पर आधारित है?
       (1) संख्‍या पद्धति                    (2) चिन्‍ह पद्धति
       (3) शृंखला पद्धति                   (4) इनमें से कोई नहीं                                  (1)
196. शैक्षणिक कम्‍प्‍यूटर का मुख्‍य कार्य है
       (1) उत्तरों का हिसाब               (2) सूचनाओं का संग्रह
       (3) डेटा का विश्‍लेषण              (4) उपरोक्‍त सभी                                      (4)
197. यूनेस्‍को (UNESCO) सेटेलाइट निर्देशित टेलीविजन कार्यक्रम प्रथम बार कब उपयोग में लिया गया?
       (1) 1926                            (2) 1959
       (3) 1961                            (4) 1965                                                (4)
198. निम्‍न में से किसमें सूचनात्‍मक पद्धति मुख्‍य घटक है?
       (1) सायनेक्टिक टीचिंग मॉडल (Synetics teaching modal)                       
       (2) बेषिक टीचिंग मॉडल (Basic teaching modal)
       (3) इन्‍डक्टि टीचिंग मॉडल(Inductive teaching modal)                            
       (4) सोशल स्‍टीम्‍यूलेशन(Social teaching modal)                                     (2)
199. कम्‍प्‍यूटर आधारित टीचिंग मॉडल किसके द्वारा बनाया गया?
       (1) गिलबर्ट (1962)                (2) स्‍टोलूर्श और डेविस (1965)
       (3) रोबर्ट गगने (1965)            (4) मेकनेर (1965)                                    (2)
200. समूह शिक्षण में विद्यार्थियों की निम्‍न में से कौन-सी आकांक्षा होती है?
       (1) समूह से प्रशंसा                 
       (2) कार्य का बराबर बँटवारा
       (3) व्‍यक्‍त‍िगत दृष्टिबिंदु की अवहेलना                                                       

       (4) पृथक विद्यार्थियों को समूह से आकर्षित करना                                          (4)

No comments:

Post a Comment

CTET 2019 Answer Key Paper - 2 (Class-VI-VIII) Child Development & Pedagogy

CTET 2019 Answer Key Paper - 2 (Class-VI-VIII) Child Development & Pedagogy  ( बाल विकास एवं शिक्षा शास्‍त्र ) 1. विकास में व...