Monday, 17 February 2020

Rajasthan Police constable Exam Important Books

Rajasthan Police Exam Important Books in Hindi

राजस्थान पुलिस कॉन्सटेबल भर्ती परीक्षा के लिये पुस्तकें 
Rajasthan Police Constable Important Books 

दोस्तो! राजस्थान पुलिस कॉन्स्टेबल भर्ती परीक्षा के लिये बाजार में बहुत सारी पुस्तकें हैं। परन्तु  हम आपके लिये उनमें से कुछ महत्त्वपूर्ण पुस्तकें एवं प्रेक्टिस सेट के बारे में यहां बता रहे है। इन्हें आप लिंक पर क्लिक करके अमेजन सीधे खरीद सकते हैं या फिर निकटतम बाजार से भी ले सकते है - 
1. लक्ष्य पब्लिकेशन की पुस्तक

https://amzn.to/2uLE0Ct

लक्ष्‍य पब्लिकेशन की पुस्‍तक राजस्‍थान में प्रतियोगी परीक्षाओं में सर्वाधिक बिकने वाली पुस्‍तकों में प्रथम स्‍थान रखती है। लक्ष्‍य की पुस्‍तक में नवीनतम जान‍कारियों तथा तथ्‍यों का संग्रह किया जाता है। प्रतियोगी छात्रों को चाहिए की इसका नवीनतम संस्‍करण ही खरीदें जिससे नवीन जानकारियों से वंचित न होना पड़ें। यह पुस्‍तक प्रतियोगी छात्रों की पहली पसंद है। 

2. राय पब्लिकेशन की पुस्तक

https://amzn.to/39CgYwI
राय पब्लिकेशन की पुस्‍तक राजस्‍थान में प्रतियोगी परीक्षाओं में सर्वाधिक बिकने वाली पुस्‍तकों में दूसरा स्‍थान रखती है। इस पुस्‍तक में भी नवीनतम तथ्‍यों का संग्रह किया जाता है। यह पुस्‍तक बहुत से प्रतियोगी छात्रों की पसंद है। इसका प्रश्‍न संग्रह काफी विस्‍तृत होता है।  

3. सिखवाल पब्लिकेशन की पुस्तक 

https://amzn.to/37Cy38n
सिखवाल पब्लिकेशन की पुस्‍तक तथा इसके प्रेक्टिस सेट प्रतियोगियों में काफी पसंद किये जाते हैं। दोस्‍तों इसके मॉडल पेपर में प्रश्‍नों के साथ ही उनका हल, विवरण सहित दिया जाता है। जो परीक्षाओं में काफी मददगार साबित होता है।

Rajasthan Constable Written Test Pattern : 


  • For the written exam total, 150 questions will appear in the paper.
  • For every question, there is 0.5 mark.
  • The question paper will be entirely based on MCQs (multiple choice questions).
  • For any wrong answer, they will be a negative marking of 25 % mark.
  • Candidates will get a total of 2 hours to complete this paper.

Rajasthan Police constable Exam Subjects & Pattern : 

Subjects Name :

  1. Reasoning, Logic and Basic Knowledge of Computers (No. of Questions = 60) (Marks = 30)
  2. General Knowledge & Science and Current Affairs (No. of Questions = 35) (Marks = 17.5)
  3. Knowledge about crimes against women & children legal provisions/rules relating to it (some references material is available on department website also (No. of Questions = 10) (Marks = 05)
  4. Rajasthan GK :  Rajasthan History, Art & Culture, Geography & Polity ( No. of Questions = 45) (Marks = 22.5) 

TOTAL : (No. of Questions = 150) (Marks = 75)

Physical Efficiency Test


  • The Physical Efficiency Test will hold only for the candidate’s qualified written test.
  • The Physical Efficiency Test will be qualifying in nature.
  • Marks obtained in the Physical Efficiency Test shall be included for the merit list.
  • There will be Only one chance shall be given for Physical Efficiency Test.
  • Female pregnant candidates are not allowed for PET Exam.

CandidatesRun → Time
Male 5 KM.25 Minutes
Female → 5 KM. → 35 Minutes
Ex.Serviceman → 5 KM. → 30 Minutes

Saharia & SC/ST candidates of TSP Area → 5 KM. → 30 Minutes

Sunday, 7 July 2019

CTET 2019 Answer Key Paper - 2 (Class-VI-VIII) Child Development & Pedagogy


CTET 2019 Answer Key Paper - 2 (Class-VI-VIII)
Child Development & Pedagogy 
(बाल विकास एवं शिक्षा शास्‍त्र)

1. विकास में वैयक्तिक विभिन्‍नता को समझने के लिए क्‍या महत्त्वपूर्ण है?
उत्तर → वंशागत विशेषताओं के साथ-साथ पर्यावरणीय कारकों एवं उनकी पारस्‍परिक क्रिया पर विचार करना।

2. निम्‍नलिखित में से कौन-सा विकास सिद्धान्‍त नहीं है?
उत्तर → विकास की सटीक गति एवं प्रकृति जन्‍म के समय ही निर्धारित हो जाती है।

3. अनेक शोध अध्‍ययनों से पता चलता है कि शिक्षक लड़कियों की अपेक्षा लड़कों से अधिक पारस्‍परिक क्रिया करते हैं। इसका सही विवेचन क्‍या है?

उत्तर → यह शिक्षण में लिंग पक्षपात का एक उदाहरण है।

4. निम्‍नलिखित में से कौन सा प्रगतिशील शिक्षा की अवधारणा के बारे में प्रमुख है?
उत्तर → प्रत्‍येक बच्‍चे की क्षमता एवं संभावना में विश्‍वास करना

5. 'दृश्‍य रूप से बाधित' विद्यार्थियों के साथ कार्य करते समय एक शिक्षक की किस प्रकार के अनुदेशन अनुकूलन करने चाहिए?
उत्तर →स्‍पष्‍ट रूप से बोलना तथा छूकर महसूस करने वाली सामग्रियों का अधिक मात्रा में उपयोग करना।

6. सहयोगात्‍मक अधिगम एवं हमउम्र साथियों के द्वारा शिक्षण का एक समावेशी कक्षा में किस प्रकार से उपयोग करना चाहिए?
उत्तर →सक्रिय रूप से आगे बढ़ाना चाहिए।

7. निम्‍नलिखित में से कौन सा समावेशी शिक्षा में सबसे अधिक महत्त्वपूर्ण है?
उत्तर → विशिष्‍ट शिक्षा योजना

8. अधिगमकर्ताओं एवं उनकी प्राथमिक विशेषताओं के मिलान युम्‍गों में से निम्‍नलिखित में से कौन सा सही है?
उत्तर → 'पठन-अक्षमता'(Dyslexia) अधिगमकर्त्ता - धारा प्रवाह पढ़ने एवं लिखने में कमी है।

9. एक समस्‍या को मूल एवं अपसारी समाधानों के साथ करने की योग्‍यता निम्‍नलिखित में से किसकी एक प्राथमिक विशेषता है?
उत्तर → सृजनात्‍मक बच्‍चों की

10. निम्‍नलिखित में से कौन सा एक संरनात्‍मक परिवेश के साथ अनुकूल नहीं हो सकता है?
उत्तर → अध्‍यापक विशिष्‍ट सत्रावसान मूल्‍यांकन रणनीतियों को लागू करते हैं तथा प्रक्रिया के बजाय प्रदर्शन पर फीडबैक देते हैं।

11.  एक शिक्षक को विद्यार्थियों को ............... निर्धारित करने के लिए प्रोत्‍साहित करना चाहिए बजाए .............. के।
 उत्तर → अधिगम लक्ष्‍य, प्रदर्शन लक्ष्‍य

12. निम्‍नलिखित में से कौन सा अधिगम के सार्थक सरलीकरण के रूप में परिणीत नहीं होता है?
उत्तर → दोहराने एवं स्‍मरण करने को बढ़ावा देना।

13. इनमें से कौन सा बाह्य अभिप्रेरणा का एक उदाहरण है?
उत्तर → 'मैं अपना गृहकार्य पूरा करती हूँ क्‍योंकि शिक्षक प्रत्‍येक नियत कार्य के लिए हमें अंक देते हैं।'

14. एक प्राथमिक कक्षा कक्ष में एक शिक्षक को क्‍या करना चाहिए?
उत्तर → उदाहरण एवं गैर उदाहरण दोनों देने चाहिए।

15. निम्‍नलिखित रणनीतियों में से कौन सी बच्‍चों में अर्थ निर्माण को बढ़ावा देगी?
उत्तर → अन्‍वेषण एवं परिचर्चा

16. निम्‍नलिखित में से कौन प्रभावी अधिगम रणनीतियों के उदाहरण हैं?
उत्तर →
1. लक्ष्‍य एवं समय-सारणी निर्धारित करना।
2. संगठनात्‍मक चार्टों एवं अवधारणात्‍मक नक्‍शे बनाना।
3. उदाहरणों एवं गैर-उदाहरणों के बारे में सोचना।
4. हमउम्र साथी को समझाना।
5. स्‍वयं से प्रश्‍न करना।
(i), (ii), (iii), (iv), (v) सभी सही है।

17. संरनात्‍मक ढांचे में बच्‍चे को किस रूप में देखा जाता है?
उत्तर →एक 'समस्‍या-समाधान करने वाला' तथा 'वैज्ञानिक अन्‍वेषक' के रूप में।

18. अपनी कक्षा में सहयोगात्‍मक अधिगम का प्रयोग करते समय एक शिक्षक की भूमिका किस प्रकार की होती है?
उत्तर → सहयोगात्‍मक होना तथा प्रत्‍येक समूह की निगरानी करना।

19. बच्‍चों की गलतियां एवं भ्रांत-धारणाएं .........
उत्तर → शिक्षण-अधिगम प्रक्रिया में एक महत्त्वपूर्ण कदम हैं।

20. पियाजे के अनुसार, विशिष्‍ट मनोवैज्ञानिक संरचनाएं (अनुभव से सही अर्थ निकालने के व्‍यवस्थित तरीके) को क्‍या कहा जाता है?
उत्तर → स्‍कीमा

21. 'एक उचित प्रश्‍न/सुझाव के द्वारा बच्‍ची की समझ को उस बिंदु से बहुत आगे ले जाया जा सकता है जिस पर वह अकेले पहुँच सकती है।' निम्‍नलिखित में से कौन सी संरचना उपरोक्‍त कथन को प्रकाशित करती है?
उत्तर → समीपस्‍थ/निकटस्‍थ विकास का क्षेत्र

22. लेव वायगोट्स्‍की के अनुसार, आधारभूत मानसिक क्षमताओं को मुख्‍य रूप से किसके द्वारा उच्‍चतर संज्ञानात्‍मक प्रक्रियाओं में बदला जाता है?
उत्तर → सामाजिक पारस्‍परिक क्रिया

23. निम्‍नलिखित कथनों में से कौन सा विकास एवं अधिगम के बीच संबंध को सही तरीके से सूचित करता है?
उत्तर →विकास एवं अधिगम अत:संबंधित और अंत:निर्भर होते हैं।

24. निम्‍नलिखित में से कौन सा मूर्त क्रियात्‍मक अवस्‍था के प्रमुख कौशलों में से एक है?
उत्तर → सुरक्षित रखने की योग्‍यता

25. जीन पियाजे एवं लेव वायगोट्स्‍की जैसे संरचनावादी अधिगम को किस रूप में देखते हैं।
उत्तर → सक्रिय विनियोजन से अर्थ-निर्माण की प्रक्रिया

26. समाचार-पत्रों कहानियों  एवं कतरनों का चयन करना एवं प्रस्‍तुत करना जो पुरुष एवं महिलाओं दोनों को गैर-परम्‍परागत भूमिकाओं में चित्रित करते हैं, निम्‍नलिखित में से किसके लिए एक प्रभावी रणनीति है?
उत्तर → लैंगिक/जेंडर रूढ़ि‍यों का सामना करने के लिए।

27. निम्‍नलिखित वर्णन को पढ़ि‍ए तथा कोहलबर्ग के नैतिक तर्क की अवस्‍था को पहचानिए।
वर्णन:
अंत:करण के के स्‍व-चयनित नैतिक सिद्धांतों के द्वारा सही कार्य परिभाषित किया जाता है जो कानून एवं सामाजिक समझौते पर ध्‍यान दिए बि‍ना सम्‍पूर्ण मानवता के लिए वैध होता है।
उत्तर → सार्वभौम नैतिक सिद्धांत अभिविन्‍यास

28. हावर्ड गार्डनर के बहु-‍बुद्धि सिद्धांत के अनुसार, निम्‍नलिखित विशेषताओं से युक्‍त एक व्‍यक्ति की बुद्धि को किस प्रकार से वर्गीकृत किया जा सकता है?
विशेषताएं : 'दूसरों की मनोदशा, स्‍वभाव, प्रेरणा तथा अभिप्राय को उचित तरीके से पता लगाने एवं प्रतिक्रिया करने की योग्‍यता।'
उत्तर : अंतर्वैक्तिक

29. बच्‍चों के मूल्‍यांकन के लिए निम्‍नलिखित में से कौन से कारण होने चाहिए?
उत्तर →
(ii) कक्षा में शिक्षण-अधिगम प्रक्रियाओं में सुधार करना।
(iii) समय के साथ बच्‍चों में होने वाले अधिगम परिवर्तनों एवं प्रगति के बारे में पता लगाना।
(iv) बच्‍चें की क्षमताओं, संभावनाओं, सशक्‍त पक्षों एवं चुनौतीपूर्ण पक्षों के बारे में माता-पिता के साथ चर्चा करना।
(ii), (iii), (iv)

30. निम्‍नलिखित में से कौन बच्‍चे के समाजीकरण में एक महत्त्वपूर्ण भूमिका अदा करते हैं?
उत्तर →
(i) मीडिया
(ii) विद्यालय
(iii) परिवार
(iv) पास-पड़ोस
(i), (ii), (iii), (iv)

Rajasthan Police constable Exam Important Books

Rajasthan Police Exam Important Books in Hindi राजस्थान पुलिस कॉन्सटेबल भर्ती परीक्षा के लिये पुस्तकें  Rajasthan Police Constable Impor...